Skip to content Skip to navigation

डिजिटल भारत अभियान - केरल देश का पहला डिजिटल राज्य घोषित

kerala digital state

भारत को एक संपूर्ण डिजिटल देश में बदलने के लिये 1 जुलाई 2015 को प्रधान मंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने डिजिटल इंडिया अभियान की शुरुआत की। राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर के सरकारी विभागों और प्रमुख कंपनियों के एकीकरण के द्वारा भारतीय समाज को डिजिटल रुप से सशक्त करने के लिये यह एक योजनागत पहल है। इस अभियान का एक मुख्य कारण है भारतीय नागरिकों तक आसानी से सभी सरकारी सेवा उपलब्ध कराने का है।

इस अभियान के तहत  दिनांक 27/02/2016 राष्ट्रपति श्री प्रणव मुख़र्जी ने  केरल को  देश का पहला डिजिटल राज्य घोषित किया| केरल राज्य में 95 प्रतिशत और इंटरनेट की आबादी का 60 प्रतिशत से अधिक कवर , प्रति के एक मोबाइल फोन घनत्व है। हर ग्राम पंचायत में ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी के साथ, केरल वास्तव में एक डिजिटल राज्य के रूप में उभरा है। इस पहल के निम्न लक्ष्यों को सुनिश्चित करने के लिये भारतीय सरकार के द्वारा डिजिटल इंडिया कार्यक्रम को लागू किया गया है।

  • ब्रॉडबैंड हाइवे सुनिश्चित करना।
  • मोबाईल फोन के लिये वैश्विक पहुँच को सुनिश्चित करना।
  •  तेज गति इंटरनेट से लोगों को सुगम बनाना।
  •  यूनिवर्सल डिजिटल साक्षरता
  •  डिजिटाईजेशन के माध्यम से सरकार में सुधार के द्वारा ई-गर्वनेंस लाना।
  •  सेवाओं की इलेक्ट्रॉनिक डिलिवरी के द्वारा ई-क्रांति लाना।
  •  सभी के लिये ऑनलाईन सूचना उपलब्ध कराना।
  • ज्यादा आईटी नौकरियों को सुनिश्चित करना।
  • उच्च गति की  इंटरनेट सेवा उपलब्धता प्रदान करना 
  •  नागरिकों का डिजिटल सशक्तिकरण
  •  सभी दस्तावेज / प्रमाण पत्र ऑनलाइन उपलब्ध कराना 
  • भारतीय भाषाओं (क्षेत्रीय) में डिजिटल संसाधनों / सेवाओं की उपलब्धता
How useful was the Article ?: 
0